चुनावों के बीच बिहार में से आयी बुरी खबर- बिहार के नायक का अंत! नही रहे पूर्व मुख्यमंत्री…

NATIONAL

पटना। बि’हार से दु’ख की खब’र आ र’ही है। बि’हार के ना’यक पू्’र्व मुख्य’मंत्री सती’श प्रसा’द सिं’ह का दि’ल्ली में नि’धन हो ग’या। स’तीश प्र’साद कोरो’ना से संक्र’मित हो ग’ए थे, जि’सके च’लते उन’का दि’ल्ली में इला’ज च’ल र’हा था। ले’किन पू’र्व सीए’म कोरो’ना से जं’ग न’ही जी’त पा’ए औ’र इ’स दु’निया से हमे’शा के लि’ए वि’दा हो ग’ए हैं। सती’श प्रसा’द के निध’न से बि’हार में चु’नावों की गर’मागर्मी के बी’च पू’रा मा’हौल गम’गीन हो ग’या है। ब’ता दें, सती’श प्र’साद सिं’ह ए’क भार’तीय राज’नेता है औ’र बि’हार के मु’ख्यमंत्री भी र’ह चु’के है। स’तीश प्र’साद सिं’ह को बिहा’र के ना’यक के रू’प में जा’ना जा’ता था। इन्हों’ने पू’रे 5 दि’न त’क बि’हार का मु’ख्यमंत्री प’द संभा’ला था। इन’की उ’म्र 89 सा’ल थी। ले’किन इन’के बिहा’र का मुख्य’मंत्री ब’नने का कि’स्सा वा’कई में बहु’त जब’रदस्त था।

पू’रे दे’श में शो’क की ल’हर

बा’त है स’न् 1967 की, ज’ब बि’हार में चौ’थी विधा’नसभा के लि’ए चु’नाव हु’ए थे। उ’स सम’य कें’द्र में तो कां’ग्रेस की सर’कार थी, ले’किन रा’ज्यों में कां’ग्रेस कम’जोर प’ड़ र’ही थी। ऐ’से में 1967 के चुना’व में कां’ग्रेस बि’हार में बहु’मत न’हीं पा स’की।

पू’र्व मुख्य’मंत्री सती’श प्रसा’द सिं’ह के नि’धन से पू’रे दे’श में शो’क की ल’हर है। सती’श प्र’साद बी’ते क’ई दि’नों से को’रोना से ग्रसि’त थे। ऐ’से में आ’ज उन’का दि’ल्ली में नि’धन हो ग’या। बि’हार में चुना’वों के दौ’रान पू’र्व मुख्य’मंत्री के निध’न से राज’नीतिक पा’र्टियां शो’क में डू’बी हु’ई हैं।

त’भी इस’का परि’णाम ये हु’आ कि बि’हार में प’हली बा’र गै’र कां’ग्रेसी स’रकार ब’नी। उ’स सम’य ज’नक्रांति द’ल में र’हे महा’माया प्र’साद सि’न्हा को पह’ला गै’र-कां’ग्रेसी मु’ख्यमंत्री बना’या ग’या, लेकि’न 330 दि’नों त’क स’त्ता प’र का’बिज र’हने के बा’द उ’न्हें कु’र्सी छो’ड़नी प’ड़ी।

औ’र उ’सी दौ’रान सं’युक्त सो’शलिस्ट पा’र्टी के ने’ता सती’श प्र’साद सिं’ह मुख्यमं’त्री बना’ए ग’ए। लेकि’न व’ह पां’च दि’न में ह’टा दि’ए ग’ए। फि’र इस’के बा’द बी’पी मंड’ल को मुख्यमं’त्री की श’पथ दिला’ई ग’ई, म’गर वे भी म’हज 31 दि’न ही सीए’म की कु’र्सी संभा’ल स’के। तो इ’स त’रह बि’हार में कु’र्सी तो ज’मी र’ही, ले’किन उ’स कु’र्सी प’र बैठ’ने वा’ले बा’र-बा’र बद’लते र’हे।

कृ’षि मं’त्री का शनि’वार रा’त को नि’धन

श’निवार को तमि’लनाडू के कृ’षि मं’त्री आ’र दोर’ईक्कान्नू का नि’धन हो ग’या था। 72 सा’ल के आ’र दोर’ईक्कान्नू को’रोना वा’यरस से बु’री त’रह से जू’झ र’हे थे। ऐ’से में का’वेरी अस्प’ताल के का’र्यकारी नि’देशक डॉ. ए सेल्व’राज की त’रफ से जा’री ए’क मेडि’कल बुले’टिन में क’हा ग’या कि मं’त्री का श’निवार रा’त को निध’न हो ग’या।

निदे’शक डॉ. सेल्व’राज ने क’हा, ‘य’ह ब’ताते हु’ए बे’हद दु’ख हो र’हा है कि कृ’षि मं’त्री आ’र दो’रईक्कान्नू का शनि’वार रा’त 11.15 ब’जे निध’न हो ग’या। मु’श्किल व’क्त में हमा’री प्रा’र्थनाएं औ’र संवेद’नाएं उन’के परिज’न के सा’थ हैं।’

सा’दगी, वि’नम्रता, साफ’गोई, शास’न कौ’शल

कृ’षि मं’त्री आ’र दोर’ईक्कान्नू को 13 अक्टूब’र को तमि’लनाडू के वि’ल्लपुरम के सर’कारी मेडि’कल कॉ’लेज अस्प’ताल से य’हां ला’या ग’या था औ’र उस’के बा’द से उन’का य’ही इला’ज च’ल र’हा था। उ’न्हें बेचै’नी की शि’कायत के बा’द अस्प’ताल में भ’र्ती करा’या ग’या था।

रा’ज्य कृ’षि मं’त्री के नि’धन प’र तमि’लनाडु के राज्यपा’ल बन’वारीलाल पुरो’हित ने शो’क व्य’क्त कि’या औ’र क’हा कि मं’त्री के नि’धन के बा’रे में जा’नकर उ’न्हें दु’ख हु’आ। उन्हों’ने अप’ने शो’क सं’देश में क’हा, ‘दो’रईक्कान्नू अप’नी सा’दगी, विन’म्रता, साफ’गोई, शास’न कौ’शल औ’र कि’सान समु’दाय के क’ल्याण के लि’ए प्रति’बद्धता के लि’ए जा’ने जा’ते थे।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *