CM योगी को मिला अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का साथ, कहा – ‘लव जिहादियों को बीच चौराहे पर हो फांसी’ और

UTTAR PRADESH

लव जेहाद के खिलाफ कानून बनाने का ऐलान करने के बाद भले ही योगी के खिलाफ विपक्ष लामबंद होने लगा हो, लेकिन सीएम योगी को कानून बनाने के मुद्दे पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का साथ मिल गया है। परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि अब समय आ गया है लव जेहादियों राम नाम सत्य हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा है कि लव जेहादियों को ऐसा दंड मिले कि उनकी आने वाली पीढ़ियां भी उसे याद रखें।

महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि लव जेहाद के विषय को बेहद गंभीरता से लेना चाहिए क्योंकि यह अपराध की श्रेणी में आता है। लव जिहाद के तहत कुछ मुस्लिम युवक तिलक लगाकर, हाथ में कलावा पहनकर और रुद्राक्ष की माला पहन कर हिंदू बहन बेटियों को प्रेम के जाल में फंसाते हैं और फिर उनसे शादी कर जबरन धर्म परिवर्तन का दबाव डालते हैं जिससे हिंदू बहन बेटियों का पूरा जीवन बर्बाद हो जाता है। कई हिंदू बहन बेटियों की हत्या हो जाती है या फिर उन्हें छोड़ दिया जाता है। यह एक दंडनीय अपराध भी है।

बता दें,  उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शनिवार को कहा था कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक आदेश दिया है कि शादी-ब्‍याह के लिए धर्म परिवर्तन जरूरी नहीं है, इसलिए सरकार ने भी फैसला किया है कि लव जिहाद को सख्‍ती से रोका जाएगा। इसके लिए प्रभावी कानून बनाएंगे।

देवरिया और जौनपुर जिले की मल्‍हनी विधानसभा क्षेत्र के उप चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के उम्‍मीदवारों के पक्ष में आयोजित जन सभाओं को संबोधित करते हुए मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा की सरकार मां-बहनों की इज्‍जत की सुरक्षा करने को दृढ़ संकल्पित है। इसके लिए ‘मिशन शक्ति’ की शुरुआत हो चुकी है जो आगे चलकर जल्द ही ‘ऑपरेशन शक्ति’ में बदलेगा। लव जेहाद में शामिल लोगों के पोस्‍टर चौराहों पर लगाए जाएंगे।

महंत नरेंद्र गिरि ने कहा है कि लव‌ जेहादियों को बीच चौराहे पर जनता के बीच फांसी पर लटका देना चाहिए।  उन्होंने कहा है कि हाईकोर्ट ने भी अपने एक महत्वपूर्ण फैसले में कहा है केवल शादी के लिए धर्म परिवर्तन वैध नहीं है और यह दंडनीय अपराध की श्रेणी में आएगा। महंत नरेंद्र गिरी ने कहा है कि लव जेहाद की बढ़ रही घटनाओं के पीछे कहीं न कहीं एक संगठित गिरोह काम कर रहा है। इसमें मुस्लिम धर्मगुरु और मौलाना भी शामिल होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *