पीएम मोदी ने कलाम को किया याद, कहा: राष्ट्र कभी नहीं भूल सकता आपका योगदान

TREANDING

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को ‘‘मिसाइल मैन’’ के नाम से मशहूर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को उनकी जयंती पर श्रद्धासुमन अर्पित किए और कहा कि चाहे वह वैज्ञानिक के रूप में हो या राष्ट्रपति के रूप में, राष्ट्र कभी उनके योगदान को नहीं भूल सकता।

देश के 11वें राष्ट्रपति रहे अबुल पाकिर जैनुलाअबदीन अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्तूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम शहर में हुआ था। आज उनकी 88वीं जयंती है

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर ट्वीट कर कहा, ‘‘डॉ. कलाम को उनकी जयंती पर नमन। चाहे वह एक वैज्ञानिक के रूप में हो या फिर राष्ट्रपति के रूप में, देश के विकास में उनके योगदान को भारत कभी भूल नहीं सकता। उनके जीवन का सफर लाखों लोगों को प्रेरणा देता रहेगा।’’

इस ट्वीट के साथ ही मोदी ने एक वीडियो भी साझा किया जिसमें वह कलाम से जुड़ी यादों की चर्चा और उनके जीवन से मिलने वाली सीख के बारे में बता रहे हैं।

कलाम को उनकी साधारण जीवन शैली के लिए भी याद किया जाता है। उन्होंने राष्ट्रपति भवन के दरवाजे आम जनता के लिए खोले। उन्हें ‘‘जनता का राष्ट्रपति’’ भी कहा जाता है।

वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘भारत रत्न डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम एक दूरदर्शी नेता और भारत के अंतरिक्ष और मिसाइल कार्यक्रमों के वास्तुकार थे, जो हमेशा एक मजबूत और आत्मनिर्भर भारत का निर्माण करना चाहते थे। विज्ञान और शिक्षा के क्षेत्र में उनकी अमर विरासत प्रेरणा का प्रतीक है।’

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डॉ. कलाम को श्रद्धांजलि देते हुए कहा, ‘शुचिता, सादगी व कर्तव्यनिष्ठा की मिसाल, प्रेरक शिक्षक, पूर्व राष्ट्रपति, भारत रत्न, ‘मिसाइलमैन’ डॉ. एपीजे. अब्दुल कलाम जी को जयंती पर श्रद्धापूर्ण नमन। ‘भारतीयता’ की सभी परिभाषाएं आपमें पूर्णता प्राप्त करती हैं। आपका व्यक्तित्व-कृतित्व युगों तक हम सभी का मार्गदर्शन करता रहेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *