पार्टी से टिकट न मिलने के बाद “चोकर बाबा” ने लिया प्रण, जीवन भर के लिए किया “अन्न का त्याग”

TREANDING

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर सियासी सरगर्मी तेज है. टिकट कटने से नाराज नेता या तो दूसरे दलों का दामन थाम रहे हैं, या फिर निर्दलीय चुनाव मैदान में उतर रहे हैं. ऐसा ही कुछ हुआ छपरा के अमनौर विधानसभा क्षेत्र से मौजूदा विधायक शत्रुघ्न तिवारी उर्फ चोकर बाबा के साथ.

बीजेपी से टिकट कटने के बाद चोकर बाबा ने निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरने का तो निर्णय लिया है, लेकिन साथ ही ऐलान कर दिया है कि वे जीवन भर के लिए अन्न त्याग कर रहे हैं. वे अब फलाहार ही करेंगे.

सांसद पर साधा निशाना 

चोकर बाबा ने कहा कि इस समय वे सीटिंग विधायक थे और चुनाव की तैयारी कर रहे थे. हाल ही में बाढ़ में उन्होंने लगातार लोगों की मदद की. हजारों लोगों को भोजन कराया, जिससे उनकी लोकप्रियता लगातार बढ़ती चली गई. उन्होंने आरोप लगाया कि सांसद राजीव प्रताप रूडी को उनकी लोकप्रियता हजम नहीं हुई और उन्होंने उनका टिकट कटवा दिया.

ये बोले सांसद 

वहीं इस मामले में सांसद राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि टिकट काटने का निर्णय हाईकमान का है. इस मामले में उनका कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा कि कोई न तो किसी को टिकट दिलवा सकता है और ना ही कटवा सकता है.

ये बोले चोकर बाबा

वहीं टिकट कटने से नाराज चोकर बाबा ने कहा कि जनता के आदेश पर निर्दलीय चुनाव मैदान में हूं. जनता ने महापंचायत कर चुनाव लड़ने का आदेश दिया है. उन्होंने कहा कि सिटिंग विधायक था. टिकट किसने कटवाई है, कौन इसमें शामिल है, सभी जानते हैं.

उन्होंने कहा कि जनता का सेवक हूं और सेवा करता रहूंगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि प्रण लिया है कि जब तक सांस चलेगी, तब तक अन्न ग्रहण नहीं करूंगा, सिर्फ फलाहार ही करूंगा. वहीं चोकर बाबा ने बीजेपी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी में पैसा लेकर पद मिलते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *