‘RJD की सरकार बनी तो कश्मीर से आतंकी बिहार में आ जाएंगे’:बोले BJP नेता नित्यानंद राय..

TREANDING
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने मंगलवार को कहा कि ‘अगर बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) का चुनाव होता है तो आतंकवादी कश्मीर से बच जाएंगे और राज्य में शरण ले लेंगे।’ वैशाली (बिहार) में एक सार्वजनिक सभा में बोलते हुए, राय ने कहा, “अगर राजद राज्य में सत्ता में चुनी जाती है तो जिन आतंकवादियों का हम कश्मीर से सफाया कर रहे हैं, वो बिहार की धरती पर पनाह ले लेंगे। हम ऐसा होने नहीं देंगे। प्रधानमंत्री और गृह मंत्री ने मुझपर भरोसा किया है।”

‘हम ऐसा नहीं होने देंगे’

विपक्ष ने नित्यानंद राय की उनके बयान के लिए कड़ी आलोचना की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, राजद के प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि ‘गृह राज्य मंत्री के इस तरह के बयान देने से देश में गृहयुद्ध हो सकता है।’ उन्होंने कहा कि ‘लालू परिवार का डर दिखाकर उन्होंने 15 साल तक शासन किया, लेकिन अब जनता उन्हें मौका नहीं देगी इसीलिए आतंकवादियों का डर दिखाकर वोट बटोरने के लिए ऐसे बयान दिए जा रहे हैं।’ राजद के एक अन्य नेता अनवर हुसैन ने कहा है कि ‘तेजस्वी यादव युवाओं को रोज़गार देने की बात कर रहे हैं, जबकि भाजपा नफरत फैलाने का काम कर रही है।’

ये भी पढ़ेंः बिहार चुनाव: तेज प्रताप ने छोड़ी महुआ सीट, तेजस्वी की मौजूदगी में हसनपुर से भरा नामांकन

बिहार विधानसभा चुनाव 2020

28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को बिहार की 243 विधानसभा सीटों के लिए तीन चरणों में मतदान किया जाएगा। कोरोना प्रोटोकॉल को ध्यान में रखते हुए, मतदान का समय एक घंटे बढ़ा दिया गया है। मतगणना 10 नवंबर को होगी।

एनडीए ने अपने सीट साझा करने के फार्मूले की घोषणा कर दी है: भाजपा 121 सीटों पर और जदयू 115 पर चुनाव लड़ेगी, जबकि जीतन राम मांझी की एचएएम 7 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। बीजेपी की सीटों पर वीआईपी पार्टी को शामिल किया जाएगा। महागठबंधन ने तेजस्वी यादव को अपना सीएम चेहरा घोषित किया है और राजद-कांग्रेस ने 144-70 सीटों के बंटवारे पर सहमति जताई है।

साथ ही तीन अन्य कम्युनिस्ट पार्टियां 29 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली हैं। इसके अलावा तीन अन्य गठबंधन भी हैं जो इस साल चुनाव लड़ेंगे जिसमें प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन (पीडीए) – जाप, एएसपी, एसडीपी और बीएमपी, यूनाइटेड डेमोक्रेटिक सेक्युलर अलायंस (यूडीएसए) – एआईएमआईएम-एसजेडी और बीएसपी-आरएलएसपी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *