बिहार चुनाव: PM मोदी के बाद योगी आदित्यनाथ हैं चुनाव प्रचार के लिए सबसे ज़्यादा लोकप्रिय चेहरा

TREANDING

3 चरणों में होने वाले आगामी बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के लिए राजनीतिक तैयारियाँ अपने चरम पर हैं। राज्य की कुल 243 विधानसभा सीटों पर 28 अक्टूबर, 3 नवंबर और 7 नवंबर को मतदान होना है। इसी कड़ी में भारतीय जनता पार्टी ने रविवार (11 अक्टूबर) को पहले चरण के चुनावों के लिए 30 स्टार प्रचारकों की सूची जारी की।

इस सूची में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडणवीस समेत अन्य दिग्गज नेताओं का नाम शामिल है। मीडिया रिपोर्ट्स में इस बात का दावा किया जा रहा है कि योगी आदित्यनाथ ऐसे नेता हैं जिनकी प्रधानमंत्री मोदी के बाद चुनाव प्रचार के लिए सबसे ज़्यादा चर्चा है।

न्यूज़ 18 हिन्दी द्वारा प्रकाशित ख़बर के अनुसार बिहार चुनाव प्रचार के लिए योगी आदित्यनाथ दूसरी दूसरी सबसे बड़ी पसंद के तौर पर उभर कर सामने आ रहे हैं। जनता दल यूनाइटेड के तमाम नेता चुनाव प्रचार के लिए उनसे लगातार संपर्क भी कर रहे हैं जिससे वह चुनाव प्रचार का हिस्सा बनें।

ऐसा माना जाता है कि बिहार में भी उनका प्रभाव काफी व्यापक है। उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री होने के अलावा योगी आदित्यनाथ गोरखपुर स्थित गोरक्षनाथ मंदिर के महंत हैं और गौ रक्षक मंच जिसे अब हिन्दू युवा वाहिनी के नाम से जाना जाता है इसके मुखिया भी हैं।

इन सभी पहलुओं का बिहार के लोगों में अच्छा भला प्रभाव है। इन बातों को मद्देनज़र रखते हुए योगी आदित्यनाथ को बिहार विधानसभा चुनाव में प्रधानमंत्री मोदी के सबसे प्रबल चुनाव कैम्पेनर माना जा रहा है। इसी तरह जब गुजरात, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और दिल्ली के चुनाव थे तब योगी आदित्यनाथ की जनसभाओं और रैलियों में काफी भीड़ इकट्ठा होती थी।

भाजपा नीतीश कुमार की जनता दल (यूनाइटेड) के साथ गठबंधन में बिहार विधानसभा चुनाव लड़ रही है। कल दोनों दलों ने राज्य में साझा रैलियों की शुरुआत की। चुनाव दिशा निर्देशों में बदलाव के बाद हुई इस जनसभा में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने जनता को सम्बोधित किया। गया जिले में हुई इस रैली में जेपी नड्डा ने कहा, “मोदी हैं तो मुमकिन है और नीतीश हैं तो सम्भव है।”

बिहार की कुल 243 विधानसभा सीटों के लिए कुल 3 चरणों में चुनाव होने हैं। यह चुनाव 28 अक्टूबर से 7 नवंबर के बीच होंगे। 28 अक्टूबर को 71 विधानसभा सीटों के लिए पहले चरण का चुनाव होगा। 94 विधानसभा सीटों के लिए दूसरे चरण का चुनाव 3 नवंबर को होगा और 7 नवंबर को 78 विधानसभा सीटों के लिए तीसरे और अंतिम चरण का मतदान होगा। इसके अलावा 10 नवंबर को मतगणना होगी।

कोरोना वायरस महामारी के बाद यह देश में होने वाले पहले चुनाव हैं, लिहाज़ा चुनाव आयोग ने सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए तमाम ज़रूरी दिशा निर्देश जारी किए हैं। मतदान की अवधि एक घंटे बढ़ाई गई है, यानी मतदान सुबह 7 बजे से लेकर शाम 6 बजे तक होगा। चुनाव आयोग में कार्यरत अधिकारियों और कर्मचारियों को महामारी के दौरान सुरक्षित रखने के लिए चुनाव आयोग ने कुल 7 लाख हैंड सेनेटाईज़र, 46 लाख मास्क और 6 लाख पीपीई किट उपलब्ध कराए हैं। इसके अतिरिक्त 6.7 लाख फेस शील्ड और 23 लाख दस्ताने भी उपलब्ध कराए गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *