भारतीय सेना ने चीनी सेना को पीटकर भगाया, छीना चीनी झंडा, छिना पहाड़ अब.. विडियो आया सामने

TREANDING

भारत में बड़ी पुरानी कहावत है की लातों के भूत बातों से नहीं मानते, चीन पर ये कहावत बिलकुल सटीक बैठती है, इस दुनिया में चीन के जितने भी पडोसी है चीन के उन सभी से खरबा सम्बन्ध है सिर्फ एक को छोड़कर और वो है रूस क्यूंकि रूस ताकतवर है और चीन को कई युद्धों में रौंद चूका है इसलिए चीन को रूस से कोई समस्या नहीं है, इसके अलावा चीन को अपने हर पडोसी से समस्या है जो पडोसी चीन से बातचीत के जरिये मसले को हल करना चाहते है

वो पडोसी कभी सफल नहीं होते, भारत भी आजतक चीन से बातचीत कर कोई मसला हल नहीं कर सका, मोदी सरकार समझ गयी की चीन सिर्फ लातों का ही भूत है इसके बाद मोदी सरकार ने चीन को उसी की भाषा में जवाब देने का निर्णय कर लिया और अब ये बॉर्डर पर दिखाई दे रहा है

भारतीय सेना ने कैलाश मानसरोवर के 450 किलोमीटर के इलाके में से चीन से 70 किलोमीटर का इलाका वापस ले लिया है, इस इलाके पर नेहरु के ज़माने से ही चीन का कब्ज़ा था, मोदी सरकार ने 70 किलोमीटर के पहाड़ी इलाके पर पुनः भारत का झंडा फहरा दिया है भारतीय सेना एक एक पहाड़ी को चीन से वापस छीन रही है और इसके लिए भारत के जवान जान हाथ पर लेकर मेहनत कर रहे है, और इसी से जुड़ा एक विडियो भी सामने आया है विडियो लद्दाख का है

और एक पहाड़ी पर कब्जे के लिए चीनी और भारतीय सेना आमने सामने है, चीनी सेना अपना झंडा उठाकर पहाड़ी पर अपना कब्ज़ा बताने आ गयी, इसके बाद भारतीय सेना ने चीनी सेना को वहीँ रोका, भारतीय सेना ने चीनी सेना से चीन का झंडा छीना, चीनी सेना को रौंदा और पीटकर भगा दिया देखिये विडियो

भारतीय जवानों ने एक पहाड़ी को चीन से मुक्त करवा लिया, भले ही सिर्फ ये एक पहाड़ी हो पर इसके लिए भारतीय जवान अपने जान को भी दाव पर लगाने को तैयार है, जबकि नेहरु कहा करता था की – क्या हो गया लद्दाख और कैलाश के हिस्सों पर चीन ने कब्ज़ा कर लिया तो, वहां तो एक घांस का तिनका भी नहीं उगता

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *