फाइल फ़ोटो

अयोध्या: भारत को ‘हिंदू राष्ट्र घोषित’ कर मुस्लिमों की नागरिकता समाप्त करें सरकार: महंत परमहंस दास

TREANDING

अयोध्या. तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास (Mahant Paramhans Das) ने 12 अक्टूबर से भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए आमरण अनशन की घोषणा की है. उनका कहना है कि वह 12 अक्टूबर की सुबह 5:00 बजे से आमरण अनशन करेंगे. आमरण अनशन कर सरकार पर दबाव बनाएंगे कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित कर मुस्लिमों की नागरिकता समाप्त करें. साथ ही परमहंस दास ने बांग्लादेश और पाकिस्तान में रह रहे हिंदुओं को भारत लाने तथा भारत में रह रहे मुसलमान को पाकिस्तान और बांग्लादेश भेजने की मांग की है.

राम मंदिर को लेकर भी कर चुके हैं अमर्ण अनशन
बताते चलें कि पूर्व में भी तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास राम जन्मभूमि के लिए कई दिनों तक आमरण अनशन किया था और उसके बाद चर्चा में आए. परमहंस दास अपने क्रियाकलापों को लेकर हमेशा चर्चा में रहते हैं. अब छावनी के महंत परमहंस का दावा है कि वह 12 अक्टूबर की सुबह 5:00 बजे से आमरण अनशन करेंगे.

बोले-मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में हिंदुओं पर हो रहा अत्याचार
महंत परमहंस दास ने कहा कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित करने के लिए 12 अक्टूबर से आमरण अनशन करेंगे. जब देश के विभाजन के समय अलग हुए पाकिस्तान और बांग्लादेश को इस्लामिक राष्ट्र घोषित कर दिया गया तो भारत को भी हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए. संत परमहंस दास ने मुस्लिमों पर हमला बोलते हुए कहा कि जहां पर भी मुस्लिम आबादी ज्यादा है वहां पर हिंदुओं का उत्पीड़न हो रहा है. उन्होंने ने कहा कि हिंदू और हिंदुस्तान को बचाने के लिए एकरा मात्र उपाय है कि भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाए.

मुस्लिमों की नागरिकता समाप्त करने की मांग
परमहंस दास ने यह मांग की है कि मुस्लिमों की नागरिकता भी समाप्त होनी चाहिए. संत परमहंस दास ने यह आशा भी व्यक्त की है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के समय में जो चीज असंभव थी चाहे वह धारा 370 हो या फिर 35a हो हटाया गया. ट्रिपल तलाक को खत्म किया गया. इसी आशा के साथ 12 अक्टूबर से आमरण अनशन करेंगे कि जल्द ही भारत को हिंदू राष्ट्र घोषित किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *