ट्यूशन पढ़ाने के बहाने फोन कर घर बुलाया, फिर ‘हिन्दू राहुल’ को मुसलमानों ने पीट- पीटकर मार डाला

TREANDING

राहुल राजपूत की हत्या सिर्फ इसलिए कर दी जाती है क्योंकि उसकी बातचीत मुस्लिम लड़की से होती थी। मोहम्मद अफ़रोज़, मोहम्मद राज़ समेत तीन अन्य मुस्लिम युवकों ने पीट पीट कर राहुल की हत्या कर दी। इस हत्या पर नहीं दिख रहे कोई कैंडल मार्च, न कोई आवाज़, न कोई नेता दौरा, न बॉलीवुड की पोस्टर कन्याओं की भारत खतरे में है मुहिम…क्योंकि मरने वाला राहुल हिंदू था।

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) के आदर्श नगर में 18 साल के लड़के को दूसरे धर्म की लड़की (मुस्लिम) से प्यार करना भारी पड़ा और लड़की के घरवालों ने पीट-पीटकर उसकी हत्या कर दी. मृतक की पहचान आदर्श नगर इलाके की मूलचंद कॉलोनी के रहने वाले राहुल के रूप में हुई है, जो जहांगीरपुरी के रहने वाली लड़की से प्यार करता था. जब लड़की के घरवालों को पता चला तो उन्होंने लड़के को धोखे से बुलाकर बुरी तरह पिटाई की, जिसके बाद उसकी मौत हो गई.

मृतक राहुल के चाचा धर्मपाल वारदात के चश्मदीद हैं

मृतक राहुल के चाचा मामले के चश्मदीद हैं. उन्होंने भतीजे की जान बचाने के लिए आरोपियों के आगे हाथ जोड़े, पांव पकड़े और जान बख्शने की गुहार लगाई, पर हत्यारों को दया नहीं आई. उन्होंने बताया कि जब वह मौके पर पहुंचे तब तक लड़की के भाई, मामा और अन्य रिश्तेदार उनके भतीजे राहुल को पीट-पीटकर सड़क पर गिरा चुके थे. उन्होंने मौके पर पहुंचकर आरोपियों के आगे हाथ जोड़े पांव पकड़े और भतीजे की जान बख्शने की गुहार लगाई.

ट्यूशन के बहाने फोन कर बुलाया, फिर कर दी हत्या

मृतक के परिजनों का आरोप है कि राहुल की एक मुस्लिम लड़की से दोस्ती थी, लेकिन मुस्लिम लड़की का परिवार राहुल को पसंद नहीं करता था क्योंकि वो दूसरे धर्म से था. तभी लड़की के परिवार वालों ने राहुल की हत्या की साजिश को रच रहे थे. परिजनों ने बताया कि लड़की के घरवालों ने राहुल को बच्चों को ट्यूशन पढ़ाने के बहाने फोन कर घर बुलाया और जैसे ही घर से कुछ दूरी पर पहुंचा तो घात लगाए आरोपियों ने उसकी पीट-पीटकर हत्या कर दी.

Spleen (प्लीहा) में गहरी चोट से हुई मौत

पुलिस ने बताया कि 7 अक्टूबर को बाबू जगजीवन राम अस्पताल से एक शख्स की मौत की सूचना पुलिस को मिली और मृतक की पहचान राहुल के रूप में हुई. बॉडी पर बाहरी चोट नहीं दिख रही थी, लेकिन जब उसका पोस्टमार्टम हुआ तो पता चला कि उसकी Spleen में गहरी चोट है, जिससे उसकी मौत हुई.

कट्टरता की हद अगर सर चढ़कर बोलने लगे तो मनुष्यता और क्रूरता में कोई फर्क नहीं रह जाता है। डॉ नारंग और अंकित सक्सेना के साथ दिल्ली में जो हुआ था वैसा ही किस्सा 18 वर्षीय राहुल राजपूत के साथ हुआ है। दिल्ली के आदर्श नगर में रहने वाली राहुल की 5 मुस्लिम युवकों द्वारा हत्या कर दी गई क्योंकि राहुल उनकी बहन से बात करता था। राहुल डीयू में ओपन का छात्र था और इंग्लिश का ट्यूशन पढ़ा कर अपना गुजारा करता था। जहांगीरपुरी में रहने वाली मुस्लिम लड़की से वो पिछले कई दिनों से सम्पर्क में था जिसके चलते लड़की के भाई ने इस दोस्ती पर नाराजगी जताई थी। मोहम्मद अफ़रोज़, मोहम्मद राज समेत तीन अन्य मुस्लिम युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *