‘जिन्हें विकास अच्छा नहीं लगता वो जातीय दंगा भड़काना चाहते हैं’ CM योगी का ने बोला विपक्ष पर हमला

TREANDING

उत्तर प्रदेश के हाथरस मामले में राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का बड़ा बयान सामने आया है। बता दें, योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य में जिस तरह से विकास हो रहा है उसे देखकर विपक्षी पार्टियां खुश नहीं है। उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर दंगा भड़काने का आरोप लगाया है। हाथरस कथित गैंगरेप मामले पर राज्य सरकार बैकफुट पर हैं। विपक्ष सीएम योगी से इस्तीफे की भी मांग कर रहा है।

CM योगी ने क्या कहा?

मुख्यमंत्री योगी ने कहा, ‘जिन्हें विकास अच्छा नहीं लग रहा है वो लोग देश में भी और प्रदेश में भी जातीय दंगा भड़काना चाहते हैं। साम्प्रदायिक दंगा भड़काना चाहते हैं। इस दंगे की आड़ में विकास रुकेगा, इस दंगे में उनको रोटियां सेकने का अवसर मिलेगा। इसलिए वो नए षड्यंत्र करते रहते हैं और इन सभी षड्यंत्रों के प्रति पूरी तरह आगाह होते हुए हमें विकास की प्रकिया को तेजी से आगे की ओर बढ़ाना है।’

गौरतलब है कि हाथरस में पिछले दिनों 19 साल की लड़की से कथित रूप से गैंगरेप की वारदात सामने आई थी। जिसके बाद युवती की मौत मामले में राज्य सरकार ने SIT की पहली रिपोर्ट आने के बाद शुक्रवार को जिले के SP, इंस्पेक्टर समेत अन्य पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया था। वहीं अब इस पूरे मामले में सीएम योगी ने CBI जांच की  सिफारिश की है। वहीं प्रियंका गांधी समेत पीड़िता के परिवार ने मामले में जिलाधिकारी (DM) को बर्खास्त करने की मांग की है।

यूपी पुलिस ने दर्ज की FIR

इससे पहले दिन में, सूत्रों ने बताया कि यूपी पुलिस ने आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत एक FIR दर्ज की है जिसमें घटना के माध्यम से हिंसा भड़काने की आपराधिक साजिश का आरोप लगाया गया है। पुलिस को पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI), सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ़ इंडिया (SDPI) की फंडिंग में संलिप्तता का संदेह है। यूपी सरकार का मानना ​​है कि सरकार को निशाना बनाने के लिए कई सोशल मीडिया अकाउंट से कथित तौर पर नफरत पैदा करने के लिए फेक तस्वीरों का इस्तेमाल किया है।

वहीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने हाथरस मामले में जिलाधिकारी (DM) को बर्खास्त करने की मांग की है। साथ ही उन्होंने उनकी भूमिका की जांच करने की भी बात कही है।

प्रियंका गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ”हाथरस के पीड़ित परिवार के अनुसार सबसे बुरा बर्ताव डीएम का था। उन्हें कौन बचा रहा है? उन्हें अविलंब बर्खास्त कर पूरे मामले में उनके रोल की जाँच हो। परिवार न्यायिक जांच माँग रहा है तब क्यों सीबीआई जांच का हल्ला करके SIT की जांच जारी है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *